विश्व में किस प्रकार लोकप्रिय हुए स्कूटर?

लखनऊ

 25-05-2019 10:30 AM
नगरीकरण- शहर व शक्ति

वेस्पा(Vespa) और लेम्ब्रेट्टा (Lambretta) इटली की दो ऐसी उपलब्धियां हैं जिन्होनें ओटॉ मोबाइल उद्योग में स्कूटरों को पहचान दी है। इनके निर्माण की शुरूआत विश्व युद्ध के समय यूरोप और संयुक्त राज्य अमेरिका में हुई। 1947 में कम लागत वाले विकल्प के रूप में स्कूटर का आविष्कार किया गया था। जनता के लिए परिवहन के रूप में डिजाइन किये गये यह स्कूटर 20वीं सदी में परिवहन का हिस्सा बने। सबसे पहला स्कूटर “वेस्पा” का निर्माण एनरिको पियाजियो(Enrico Piaggio) ने द्वितीय विश्व युद्ध के समय किया था। एनरिको पियाजियो ने मोटर स्कूटर को पैराशूटिस्ट के लिये बनाया था किंतु भारी पहियों और असुविधा महसूस करने के कारण उन्हें यह पसंद नहीं आया। जिसके फलस्वरूप इसमें कुछ परिवर्तन किये और इसे सुविधाजनक बनाया गया तथा पुनः 1946 में पोंटेडेरा में निर्मित करके वेस्पा के रूप में पेश किया गया क्यूंकि यह वेस्प (wasp-ततैया) की तरह दिखता था। वेस्पा का पहला सामाजिक प्रवेश यू.एस. जनरल स्टोन की उपस्थिति में रोम के गोल्फ क्लब में हुआ। 1947 के अंतिम महीनों में इसके उत्पादन में वृद्धि हुई और उसके अगले ही वर्ष यह वेस्पा-125 के रूप में दिखाई दी। 1948 तक इसका उत्पादन लगभग 19,822 तक पहुंच गया था। एनरिको पियाजियो ने पूरी दुनिया में वेस्पा के प्रसार को प्रोत्साहित करने के लिए लगातार काम किया, जिससे पूरे यूरोप और बाकी दुनिया में एक व्यापक सेवा नेटवर्क तैयार हुआ। नया स्कूटर एक ऐसी जीवन शैली का प्रतीक बन गया, जिसने समय पर अपनी छाप छोड़ी। सिनेमा में, साहित्य में और विज्ञापन में वेस्पा बदलते समाज के सबसे महत्वपूर्ण प्रतीकों के रूप में दिखाई देने लगा। 1950 में वेस्पा का निर्माण जर्मनी में लिंटॉर्फ (Lintorf) के हॉंटमैन-वर्के (Hoffman-Werke ) के द्वारा किया गया था जिसके बाद ब्रिटेन और फ्रांस में भी इसके लाइसेंस प्राप्त होने लगे। 1953 के समय वेस्पा को 13 देशों में उत्पादित किया गया और ऑस्ट्रेलिया, दक्षिण अफ्रीका, ईरान और चीन सहित 114 देशों में बेचा गया था।

इसी प्रकार लेम्ब्रेट्टा(Lambretta- मोटर स्कूटर) को शुरू में मिलान, इटली में इनोसेंटी(Innocenti) द्वारा निर्मित किया गया था। 1972 में, भारत सरकार ने घरेलू बाजार के लिए विक्रम नाम के लेम्बो थ्री-व्हीलर का उत्पादन करने के लिए मिलानीज़ फैक्ट्री की मशीनरी को खरीदा। लेम्ब्रेट्टा स्कूटरों का निर्माण फ्रांस में फेनविक (Fenwick), जर्मनी में एनएसयू (NSU), स्पेन में सेर्वेटा(Serveta), भारत में एपीआई(API), ताइवान में यूलोन(Yulon), ब्राजील में पास्को(Pasco), कोलंबिया में ऑटोको(Auteco) और अर्जेंटीना में सियाम्ब्रेटा(Siambretta) के लाइसेंसों के तहत किया गया था। वेस्पा मॉडल के उत्पादन के बाद 1947 में इनोसेंटी ने लेम्ब्रेट्टा मोटर स्कूटरों का उत्पादन शुरु किया। ऑटोमोबाइल प्रोडक्ट्स ऑफ इंडिया (एपीआई) ने 1950 के दशक में 48 सीसी, एलडी मॉडल, ली1 सीरीज की शुरुआत के बाद भारत में इनोसेंट-बिल्ट (Innocenti-built) लेम्ब्रेट्टा स्कूटरों का निर्माण करना शुरू किया। 1972 में, स्कूटर इंडिया लिमिटेड लखनऊ उत्तर-प्रदेश (राज्य द्वारा संचालित उद्यम), ने लेम्ब्रेट्टा स्कूटरों के निर्माण के लिये लेम्ब्रेट्टा विनिर्माण और ट्रेडमार्क अधिकार खरीदे।

पियाजिओ ने एक बेहतरीन इलेक्ट्रिक स्कूटर “वेस्पा इलेट्रिका” लॉन्च किया है जिसका अनावरण 2016 में ईआइसीएमए(EICMA) इटली में किया गया। इसमें 4 किलोवाट की इलेक्ट्रिक मोटर है जिसकी इलेक्ट्रिक-रेंज 100 किमी (62 मील) है। पोंटेडेरा संयंत्र में उत्पादित किये गये इस स्कूटर को ऑनलाइन ऑर्डर भी किया जा सकता है। वेस्पा इलेट्रिका के लिये कृत्रिम बुद्धिमत्ता क्षमताओं को भी विकसित किया गया है जिससे यह संभावित खतरों को समझने में सक्षम है। यह ट्रैफिक और मैपिंग डेटा भी एकत्र कर सकता है।

भारत में पहली बार आयातित होने वाला स्कूटर वेस्पा स्कूटर था जो बजाज ऑटो ने 1948 में आयातित किया था। भारत में स्कूटर बनाने की शुरुआत 1955 से हुई थी। 1955 और 1960 के बीच केवल एपीआई (API) ने ही मोपेड (moped-मोटरसाइकिल) का उत्पादन किया था। 1960 के दशक में तीन कम्पनियों मोपेड्स इंडिआ लिमिटेड (1965), एसजेडयूएल ग्वालियर(1964) और पर्ल्स स्कूटर लिमिटेड (1962) ने मोपेड्स एरेना (mopeds arena) को लॉन्च किया। जिसके बाद 1972 में काइनेटिक इंजीनियरिंग लिमिटेड ने मोपेड-लूना को लॉन्च करने के साथ-साथ पहला गियरलेस स्कूटर भी पेश किया। 1980 में टीवीएस ने मोप्ड टीवीएस (moped TVS -50) को लॉन्च किया जिसके बाद से स्कूटरों का विकास आज तक जारी है।

निम्नलिखित लिंक में आप देख सकते हैं कि शुरुआती स्कूटरों को विभिन्न पोस्टरों में किस प्रकार चित्रित किया गया है:
https://newatlas।com/go/3954/#gallery

संदर्भ:
1. https://newatlas।com/go/3954/
2. https://newatlas।com/electric-vespa-elettrica-piaggio-production/56089/
3. https://www।quora।com/What-was-the-first-scooter-launched-in-India
4. https://en।wikipedia।org/wiki/Lambretta



RECENT POST

  • तीव्रता से बढ़ती जा रही कृत्रिम मांस की मांग
    स्वाद- खाद्य का इतिहास

     24-01-2021 10:56 AM


  • लखनऊ विश्‍वविद्यालय का संक्षिप्‍त इतिहास
    वास्तुकला 1 वाह्य भवन

     23-01-2021 12:18 PM


  • विश्व युद्धों को समाप्त करने में लखनऊ ब्रिगेड का महत्व
    उपनिवेश व विश्वयुद्ध 1780 ईस्वी से 1947 ईस्वी तक

     22-01-2021 03:35 PM


  • जर्मप्लाज्म सैम्पलों (Sample) पर लॉकडाउन का प्रभाव
    स्तनधारी

     21-01-2021 01:41 AM


  • पहला वाहन लेने से पहले ध्यान में रखने योग्य कुछ महत्वपूर्ण बातें
    य़ातायात और व्यायाम व व्यायामशाला

     20-01-2021 11:53 AM


  • भारत की जनता की नागरिकता और उससे जुडे़ विशेष नियम
    सिद्धान्त 2 व्यक्ति की पहचान

     19-01-2021 12:32 PM


  • आदिवासी समूहों द्वारा आज भी स्वदेशी रूप में संजोयी गयी हैं, आभूषणों की प्राचीन कलाएं
    सिद्धान्त I-अवधारणा माप उपकरण (कागज/घड़ी)

     18-01-2021 12:47 PM


  • मदद करने से मिलती है खुशी
    विचार 2 दर्शनशास्त्र, गणित व दवा

     17-01-2021 12:14 PM


  • क्या मिक्सर ग्राइंडर से बेहतर है भारत भर में प्रचलित सिलबट्टा
    वास्तुकला 2 कार्यालय व कार्यप्रणाली

     16-01-2021 12:32 PM


  • वास्तुकला का एक बेहतरीन उदाहरण पेश करती है, लखनऊ की तारे वाली कोठी शाही वेधशाला
    वास्तुकला 1 वाह्य भवन

     15-01-2021 12:56 AM






  • © - 2017 All content on this website, such as text, graphics, logos, button icons, software, images and its selection, arrangement, presentation & overall design, is the property of Indoeuropeans India Pvt. Ltd. and protected by international copyright laws.

    login_user_id