उत्पादकता के वास्तु टिप्स

लखनऊ

 02-09-2020 04:24 AM
वास्तुकला 2 कार्यालय व कार्यप्रणाली

लखनऊ वास्तुकला के अनेक चमत्कारों का गढ़ रहा है। बड़ा इमामबाड़ा, छोटा इमामबाड़ा इसके सजीव मिसाल हैं। लेकिन वास्तुशास्त्र के एक पहलू की हम अक्सर अनदेखी कर देते हैं, वह है हमारे कामकाज की जगह का वास्तुशास्त्र। जैसे-जैसे वास्तुशास्त्र संबंधी हमारी जानकारी तथा उत्पादकता को लेकर शोध का विस्तार हो रहा है, उससे यह बात साफ हो जाती है कि जो कुछ हम कर रहे हैं, सिर्फ इतने मात्र से हमारी खुशहाली पूरी नहीं होती, ना ही इससे कि हम कितना ज्यादा उत्पादन कर रहे हैं बल्कि यह ज्यादा महत्वपूर्ण है कि हम यह सारी मेहनत कर कहां रहे हैं? कामकाज की जगह के वास्तुशास्त्र और हमारी उत्पादकता का एक-दूसरे से गहरा संबंध है।
कैसे बढ़ाता है ऑफिस का डिजाइन (Design) उसकी उत्पादकता? बहुत समय से वास्तुकार इस बात पर जोर देते रहे हैं कि किसी भी इमारत का डिजाइन उत्पादकता पर ज्यादा प्रभाव डालता है, बजाये सिर्फ देखने में सुंदर लगने के। आज ऐसे बहुत से अध्ययन सामने आए हैं, जो इस बात का समर्थन करते हैं कि ऑफिस की इमारत के कुछ लक्षण ऐसे होते हैं, जो उत्पादकता पर सकारात्मक या नकारात्मक प्रभाव डाल सकते हैं। आजकल यह प्रथा बहुत लोकप्रिय हो रही है कि लंच-ब्रेक (Lunch Break) में लोग प्रकृति के संपर्क में जाने का प्रयास करते हैं, ताकि काम का तनाव कम हो और कुछ देर काम की जगह से बाहर भी निकला जाए। 2014 के एक अध्ययन में यह बताया गया कि अगर काम की किसी जगह पर पौधे रखे जाएं, तो उत्पादकता 15% बढ़ जाती है। एक अन्य अध्ययन में हावर्ड विश्वविद्यालय (Harvard University) ने प्रमाणित किया कि दफ्तर के भीतर पौधे रखने से ऑफिस के अंदर की पर्यावरण संबंधी गुणवत्ता को सुधारा जा सकता है। इन खोज के आधार पर पूरे विश्व में पर्यावरण को सुधारने के प्रयास हुए। इसमें कैलिफ़ोर्निया (California) में एप्पल (Apple) का नया मुख्यालय भी शामिल है, वहां पूरे कैंपस (Campus) में लगभग 10,000 पेड़ हैं, जो न केवल कर्मचारियों को प्रकृति के नजदीक ले जाते हैं बल्कि इससे उनकी उत्पादकता की शक्ति भी बढ़ती है।
वायु गुणवत्ता यह एक आधारभूत सच्चाई है कि अगर कामकाज की जगह में शुद्ध वायु का प्रबंध नहीं है, तो कर्मचारी वहां अपनी सर्वोत्तम सेवा नहीं दे पाएंगे।
रोशनी का प्रबंध इमारत के निर्माण और उसके वास्तु पर विचार करते समय अंदर की स्वाभाविक रोशनी का विशेष ध्यान रखा जाता है। 
ऑफिस बनाते समय किन चीजों का ध्यान रखें-
ऑफिस ऐसी जगह हो जहां से कर्मचारी, ग्राहक और उद्योग के भागीदारों के घरों की दूरी अधिक ना हो। रेस्टोरेंट, दुकानें या बाहर घूमने-बैठने की जगह नजदीक हो। सार्वजनिक वाहन व्यवस्था दफ्तर के पास हो। सुरक्षित दुपहिया लेन या पैदल चलने के रास्ते दफ्तर से जुड़े होने चाहिए। इनडोर-आउटडोर (Indoor-Outdoor) सामुदायिक स्थल हो, जहां अनौपचारिक आयोजन और मीटिंग रखी जा सके। कुछ एकांत स्थल ऐसे रखे जाएं, जहां निजी फोन किए जा सकें या बहुत ज्यादा ध्यान से किया जाने वाला काम निपटाया जा सके।

सन्दर्भ:
https://hmcarchitects.com/news/office-architecture-concepts-how-workplace-design-affects-human-behavior-2019-07-05/
https://www.pickthebrain.com/blog/could-architecture-be-impacting-how-productive-you-are/
https://www.spacesworks.com/how-office-design-can-increase-productivity/


चित्र सन्दर्भ :
मुख्य चित्र में एक कार्यालय की ईमारत का वास्तु दिखाया गया है। (Unsplash)
दूसरे चित्र में एक कार्यालय के अंदर हरियाली (हरे-भरे पौधों) को दिखाया गया है। (Picseql)
तीसरे चित्र में कार्यालय के अंदर स्वच्छ और ताज़ी हवा का संकेत चित्रण है। (Pickist)
चौथे चित्र में कार्यालय के भीतर प्राकृतिक प्रकाश को दिखाया गया है। (Pexels)

हमारे प्रायोजक:
NKTech (NKTechnologies ITSol Private Limited) provides the best IT solutions for clients around the globe. Our services include Digital Marketing (SEO, SMO, ORM, SEM, SMM, Google Adwords, Facebook ads etc), Website Designing, Website Development, E-commerce solutions (Shopping cart Development, Payment gateways, Logistics), Mobile App Development and Software Development.



RECENT POST

  • लखनऊ सहित कुछ चुनिंदा चिड़ियाघरों में ही शेष बचे हैं, शानदार जिराफ
    स्तनधारी

     12-08-2022 08:28 AM


  • ऑनलाइन खरीदारी के बजाए लखनऊ के रौनकदार बाज़ारों में सजी हुई राखिये खरीदने का मज़ा ही कुछ और है
    संचार एवं संचार यन्त्र

     11-08-2022 10:20 AM


  • गांधीजी के पसंदीदा लेखक, संत व् कवि, नरसिंह मेहता की गुजराती साहित्य में महत्वपूर्ण भूमिका
    मध्यकाल 1450 ईस्वी से 1780 ईस्वी तक

     10-08-2022 10:04 AM


  • मुहर्रम के विभिन्न महत्वपूर्ण अनुष्ठानों को 19 वीं शताब्दी की कंपनी पेंटिंग शैली में दर्शाया गया
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     09-08-2022 10:25 AM


  • राष्ट्रीय हथकरघा दिवस विशेष: साड़ियाँ ने की बैंकिग संवाददाता सखियों व् बुनकरों के बीच नई पहल
    स्पर्शः रचना व कपड़े

     08-08-2022 08:55 AM


  • अंतरिक्ष से दिखाई देती है,भारत और पाकिस्तान के बीच मानव निर्मित सीमा
    द्रिश्य 1 लेंस/तस्वीर उतारना

     07-08-2022 12:06 PM


  • भारतीय संख्या प्रणाली का वैश्विक स्तर पर योगदान
    विचार 2 दर्शनशास्त्र, गणित व दवा

     06-08-2022 10:25 AM


  • कैसे स्वचालित ट्रैफिक लाइट लखनऊ को पैदल यात्रियों के अनुकूल व् आज की तेज़ गति की सडकों को सुरक्षित बनाती
    य़ातायात और व्यायाम व व्यायामशाला

     05-08-2022 11:23 AM


  • ब्रिटिश सैनिक व् प्रशासक द्वारा लिखी पुस्तक, अवध में अंग्रेजी हुकूमत की करती खिलाफत
    उपनिवेश व विश्वयुद्ध 1780 ईस्वी से 1947 ईस्वी तक

     04-08-2022 06:26 PM


  • पाकिस्तान, चीन की सीमाओं तक फैली हुई, काराकोरम पर्वत श्रृंखला की विशेषताएं व् प्राचीन व्याख्या
    पर्वत, चोटी व पठार

     03-08-2022 06:11 PM






  • © - 2017 All content on this website, such as text, graphics, logos, button icons, software, images and its selection, arrangement, presentation & overall design, is the property of Indoeuropeans India Pvt. Ltd. and protected by international copyright laws.

    login_user_id