महामारी के बढ़ते प्रसार के चलते : आंतरिक या बाहरी व्यायाम में से क्या सुरक्षित होगा?

लखनऊ

 27-04-2021 06:16 PM
य़ातायात और व्यायाम व व्यायामशाला

>राज्य सरकार के प्रयासों के परिणाम से लखनऊ तीव्र गति से विकास की ओर अग्रसर है। हाल ही में लखनऊ में बाहरी जिमों (Outdoor Gyms) की संख्या में काफी वृद्धि देखी गई है, जो शहर के परिदृश्य को और अधिक निखारने में मदद कर सकती है, इसके अलावा यह लोगों के स्वस्थ्य को बेहतर रखने में भी काफी सहायक सिद्ध होगा। बाहरी जिम को अधिकतर तौर पर किसी सार्वजनिक पार्क में खेल उपकरणों जैसी दिखने वाली व्यायाम मशीनें (Machines) को रख कर बनाया जाता है। यह 1960 तथा 1970 के दशक के फिटनेस ट्रेल्स (Fitness trails) के समान है। पार्क, क्षेत्र और आगंतुकों की प्रकृति के आधार पर बाहरी जिम के उपकरणों के प्रकार भिन्न हो सकते हैं। इन्हें प्रायः शक्ति प्रशिक्षण और सरल फिटनेस या प्रतिरोध प्रशिक्षण के रूप में वर्गीकृत किया जा सकता है। दुनिया भर में आमतौर पर इस्तेमाल किए जाने वाले कुछ बुनियादी बाहरी उपकरण पुलअप बार (Pullup bars), बैलेंसिंग बीम (Balancing beams), पैरलेल डिप बार (Parallel dip bars), आदि हैं।बाहरी जिम की अवधारणा चीन से उत्पन्न हुई है जहां इसका उपयोग 2008 के ओलंपिक खेलों से पहले राष्ट्रीय उपयुक्तता अभियान के रूप में किया गया था। चीन में यह अवधारणा उपयुक्तता और स्वास्थ्य के स्तर को बढ़ाने में इतनी प्रभावी रही है कि उन्होंने 1998 के बाद से पूरे देश में 37 मिलियन वर्ग फुट बाहरी व्यायामशाला का निर्माण किया।बाहरी जिम अवधारणा पेश किए जाने के बाद से शारीरिक गतिविधि में भागीदारी का स्तर लगातार बढ़ रहा है। शंघाई में इसकी भागीदारी दर वर्तमान में 45% है और एक चीनी राष्ट्रीय विवरण के अनुसार बाहरी जिम के हस्तक्षेप का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। इसके बाद से यूनाइटेड किंगडम (United Kingdom) में बाहरी जिम काफी आम हो गये थे, इन्हें आमतौर पर सार्वजनिक पार्कों और स्कूल के खेल मैदानों में स्थापित किया गया था। वहीं भारत में इनका चलन पिछले कुछ ही वर्षों पहले शुरू हुआ है, 2012 में नई दिल्ली नगरपालिका परिषद ने क्षेत्र के चारों ओर 40 उपकरणों को लगाया, और आसपास की नगर पालिका द्वारा भी इन उपकरणों को लगाया गया। यह दुनिया भर के शहरों में एक नये फिटनेस चलन के रूप में उभरा, जो कसरत को हर किसी के लिए सुलभ बनाता है। आज, अकेले चीन में 6,00,000 से अधिक बाहरी व्यायाम उपकरण मौजूद हैं। कोपेनहेगन, डेनमार्क (Copenhagen, Denmark), जहां 6 लाख से भी कम लोग निवास करते हैं, में बाहरी उपकरणों को 60 से भी अधिक स्थानों पर देखा जा सकता है। वहीं इन उपकरणों को लगाने का मुख्य लाभ यह है कि इसके द्वारा लोग ताज़ी हवा में विभिन्न कसरत गतिविधियाँ कर सकते हैं। इसे वयस्कों का खेल मैदान भी कहा जाता है क्योंकि वयस्क समूह के लोग इनके द्वारा आसानी से कसरत का लाभ उठा सकते हैं। बाहरी प्रशिक्षण पिछले वर्षों में तेज़ी से लोकप्रिय हो गया है तथा बाहरी जिम की सफलता इस बात का प्रमाण है। यह लोगों को सक्रिय जीवन जीने के लिए प्रेरित करता है। वयस्क लोग इनका लाभ उठा सकें इसलिए इन्हें पार्कों और समुद्र तटों पर रखा गया था। इस तरह की सुविधा उन लोगों को लाभ पहुंचाती है, जो व्यायाम करना चाहते हैं किंतु वे किसी कारणवश आंतरिक जिम में नहीं जा सकते हैं।इन उपकरणों को मुख्य रूप से पैदल चलने वाले क्षेत्रों में रखा जाता है, ताकि लोग कहीं भी जाते समय व्यायाम कर सकें। इससे बाहरी जिम की ओर नए लोगों, नियमित उपयोगकर्ताओं और कई अलग-अलग लक्षित समूहों को आकर्षित किया जा सकता है।
बाहरी जिम निःशुल्क होते हैं, तथा लोगों के लिए हर समय सुलभ होने की वजह से इससे लोग अधिक स्वस्थ रह सकते हैं। आंतरिक गतिविधि की तुलना में बाहरी गतिविधि अधिक स्वास्थ्य लाभ पहुंचाती है। एक अनुसंधान से पता चलता है कि बाहरी जिम आत्म-सम्मान, ऊर्जा और प्रसन्नता में अपेक्षाकृत अधिक सुधार लाते हैं तथा अवसाद, तनाव और थकान को भी अपेक्षाकृत कम करते हैं। बाहर व्यायाम करने का एक और आश्चर्यजनक लाभ यह है कि पौधों और पेड़ों के संपर्क में आने से आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली में सुधार हो सकता है।

वहीं हाल ही में तेजी से फैल रही कोरोनावायरस (Coronavirus) महामारी आंतरिक व्यायाम के परिणामस्वरूप अधिक मात्रा में फैल सकती है। जबकि कुछ फिटनेस स्टूडियो (Fitness studios) और आंतरिक खेल सुविधाएं कोरोनोवायरस सुरक्षा योजनाओं को उन्नत कर रही हैं, जिसमें उन्नत वायु निस्पंदन प्रणाली और सावधानीपूर्वक सफाई शामिल है, विशेषज्ञों का कहना है कि यह आपको संक्रमण से सुरक्षित रखने के लिए पर्याप्त नहीं है। आंतरिक व्यायाम के दौरान यह अवश्य ध्यान में रखना चाहिए कि बाहर की वायु का बार-बार और सही मात्रा में आदान-प्रदान किया जाएं। आंतरिक व्यायाम करते समय स्वयं ही सभी सावधानियों का ध्यान रखें। यदि कोई व्यक्ति मास्क पहने हुए नहीं है तो वहाँ से बाहर निकल जाएं, और यदि संभव हो तो बाहरी व्यायाम का विकल्प चुनें, क्योंकि महामारी की स्थिति काफी खराब है इसलिए फिलहाल के लिए आंतरिक सुविधा में खेलने या व्यायाम करने से बचना सबसे अच्छा विकल्प है। बाहर व्यायाम करते समय अपनी पानी की बोतल (Bottle), योगा मैट (Yoga Mat), और डंबल (Dumbbells) जैसी किसी भी वस्तु को अपने साथ वापस लाने से पहले और बाहर ले जाने से पहले साफ करें और व्यायाम करने से पहले और बाद में अपने हाथों और पेरों को अच्छे से साफ करें।

संदर्भ :-
https://bit.ly/3dMOg0U
https://n.pr/3gBBtQN
https://bit.ly/3tRCU19
https://bit.ly/2PqpN8s
https://bit.ly/3dOBAGP
https://bit.ly/3dQONPD


चित्र सन्दर्भ:
1.बाहरी जिम का एक चित्रण (unsplash)
2.बाहरी जिम का एक चित्रण (unsplash)
3.बाहरी जिम का एक चित्रण (unsplash)



RECENT POST

  • यूक्रेन युद्ध, भारत में कई जगह सूखा, बेमौसम बारिश,गर्मी की लहरों से उत्पन्न खाद्य मुद्रास्फीति
    स्वाद- खाद्य का इतिहास

     26-05-2022 08:44 AM


  • हम लखनऊ वासियों को समझनी होगी प्रदूषण, अतिक्रमण से पीड़ित जल निकायों व नदियों की पीड़ा
    नदियाँ

     25-05-2022 08:16 AM


  • लखनऊ के हरित आवरण हेतु, स्थानीय स्वदेशी वृक्ष ही पारिस्थितिकी तंत्र के लिए सबसे उपयुक्त
    पेड़, झाड़ियाँ, बेल व लतायें

     24-05-2022 07:37 AM


  • स्वास्थ्य सेवा व् प्रौद्योगिकी में माइक्रोचिप्स की बढ़ती वैश्विक मांग, क्या भारत बनेगा निर्माण केंद्र?
    खनिज

     23-05-2022 08:50 AM


  • सेलफिश की गति मछलियों में दर्ज की गई उच्चतम गति है
    व्यवहारिक

     22-05-2022 03:40 PM


  • बच्चों को खेल खेल में, दैनिक जीवन में गणित के महत्व को समझाने की जरूरत
    विचार 2 दर्शनशास्त्र, गणित व दवा

     21-05-2022 11:09 AM


  • भारत में जैविक कृषि आंदोलन व सिद्धांत का विकास, ब्रिटिश कृषि वैज्ञानिक अल्बर्ट हॉवर्ड द्वारा
    भूमि प्रकार (खेतिहर व बंजर)

     20-05-2022 10:03 AM


  • लखनऊ की वृद्धि के साथ हम निवासियों को नहीं भूलना है सकारात्मक पर्यावरणीय व्यवहार
    नगरीकरण- शहर व शक्ति

     19-05-2022 09:47 AM


  • एक समय जब रेल सफर का मतलब था मिट्टी की सुगंध से भरी कुल्हड़ की स्वादिष्ट चाय
    म्रिदभाण्ड से काँच व आभूषण

     18-05-2022 08:47 AM


  • उत्तर प्रदेश में बौद्ध तीर्थ स्थल और उनका महत्व
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     17-05-2022 09:52 AM






  • © - 2017 All content on this website, such as text, graphics, logos, button icons, software, images and its selection, arrangement, presentation & overall design, is the property of Indoeuropeans India Pvt. Ltd. and protected by international copyright laws.

    login_user_id