मौन रहकर भी भावनाओं की अभिव्यक्ति करने की कला है माइम Mime

लखनऊ

 23-07-2021 10:11 AM
द्रिश्य 2- अभिनय कला

भावनाओं और संदेशों को अभिव्यक्त करने के लिए शब्दों की आवश्य्कता नहीं पड़ती। इस कथन को माइम (mime) कलाकार कई मायनों में सार्थक करते हैं। चलिए जानते हैं कि कैसे, बिना एक शब्द बोले नाटक के माध्यम से अपनी भावनाओं को प्रस्तुत करना संभव है?

माइम क्या है?
माइम मौन रहकर शब्दों का उपयोग किए बिना नाटकों के माध्यम से कला को प्रदर्शित करने का हुनर है। यह दर्शकों को एक इच्छित कहानी, संदेश या भावना को सुंदर, बलपूर्वक और तेजी से व्यक्त करता है। पौराणिक माइम कलाकार टोनी मोंटानारो (Tony Montanaro) के अनुसार, "माइम एक मनोदशा या संदेश का एक वाक्पटु और कुशल वितरण है, जिसमें शरीर प्राथमिक साधन है।"
माइम की उत्पत्ति के संदर्भ में यह माना जाता है कि, माइम आत्म अभिव्यक्ति का सबसे प्रारंभिक रूप था। माइम आदिम काल में भाषा के निर्माण से पहले अस्तित्व में था, और मानव की आवश्यकता, इच्छा या प्रतिक्रिया व्यक्त करने के पहले आंदोलन के साथ शुरू हुआ। जब बोली जाने वाली भाषा विकसित हुई तो अस्पष्टता में लुप्त होने के बजाय, माइम मनोरंजन का एक रूप बन गया। पश्चिम में माइम का सबसे पहला लिखित रिकॉर्ड एथेंस (Athens) में डायोनिसस (Dionysus) के ग्रीक थिएटर में दिखाई देता है। सैद्धांतिक माइम को एथोलॉग्स (ethologies) के रूप में जाना जाता था, इसमें ऐसे दृश्य प्रस्तुत किये जाते थे, जो नैतिक पाठ सिखाते थे। कलात्मक अभिव्यक्ति के अन्य रूपों की भांति माइम को भी बढ़ावा दिया गया था।
प्राचीन समय में सरकारें और राजाओं द्वारा जनमत के निर्माताओं को चुप कराने का आदेश दिया गया, जिस कारण कलाकारों के पास अपने संदेश को चुपचाप चित्रित करने के अलावा कोई विकल्प नहीं बचा। उदाहरण के लिए, लुई XIV (फ्रांस के राजा) ने लोकप्रिय इतालवी मंच के कलाकारों को मंच पर बोलने से प्रतिबंधित कर दिया, परिणाम स्वरुप कलाकारों को चेहरे के भाव और इशारों के माध्यम से अपना अर्थ व्यक्त करने में महारत हासिल हो गई।
भारत में भी माइम का एक समृद्ध इतिहास रहा है, शास्त्रीय भारतीय संगीत थिएटर विशेषतौर पर इस कला रूप के उपयोग में अग्रणी है। इस नाट्य परंपरा में कलाकार और विभिन्न पात्र, कार्यों और परिदृश्यों को चित्रित करने के लिए शैलीबद्ध इशारों, हाथ की स्थिति की एक सरणी और माइम भ्रम के माध्यम से एक कथा प्रस्तुत करते हैं। कभी-कभी प्रदर्शन के साथ सस्वर पाठ, संगीत और यहाँ तक ​​​​कि टकराने वाले फुटवर्क (Footwork) भी होते हैं। भरत मुनि द्वारा रंगमंच पर एक प्राचीन ग्रंथ, मूक प्रदर्शन या मुखबिनाय का उल्लेख किया गया है। नाट्य शास्त्र कथकली में भी, भारतीय महाकाव्यों की कहानियों को प्रस्तुत करने के लिए चेहरे के भाव, हाथ के संकेतों और शरीर की गति का उपयोग किया जाता है। आज तेलुगु फ़िल्मों के कॉमेडियन ने अपने मिमिक्री रूटीन (mimicry routine) में माइम को भी शामिल कर लिया है। राजेंद्र प्रसाद को दक्षिण भारतीय फ़िल्मों में एक महान माइम कलाकार माना जाता है, जिन्होंने महान मुख्यधारा के अभिनेता चिरंजीवी के साथ फ़िल्म स्कूल में माइम सीखा। कमल हसन को भारतीय फ़िल्म उद्योग में माइम का मास्टर माना जाता है।
आज कला का यह रूप कितना लोकप्रिय हो गया है, इस बात का अंदाज़ा आप इस बात से लगा सकते हैं कि पुणे की वार्षिक माइम प्रतियोगिता जिसे 2013 में तीन मीडिया कंपनियों-ड्रीम्स 2 रियलिटी (Dreams 2 Reality) , वाइड विंग्स मीडिया (Wide Wings Media) और रंगीत तालीम (Rangit Taleem) द्वारा शुरू किया गया था। जिसमे 8-10 जुलाई को आयोजित इस साल के संस्करण में 20 समूहों ने भाग लिया। भारत में माइम की परंपरा 3, 000 साल से अधिक पुरानी है। इसका वर्णन प्राचीन ग्रंथ नाट्यशास्त्र में भी मिलता है। समय के साथ-साथ भारत में माइम की जड़ें गहरी होती गई, आज हर साल एक राष्ट्रीय माइम उत्सव आयोजित किया जाता है।
15वीं शताब्दी के इटली में अपनी जड़ें ज़माने के बाद से, माइम का प्रदर्शन आम सड़कों पर भी होने लगा। आज हम दुनिया भर के विभिन्न शहरों में दर्शकों की भीड़ के लिए प्रदर्शन करते हुए, माइम कलाकारों को देख सकते हैं। अमेरिका गॉट टैलेंट (America' s Got Talent) में भी सैम विल्स (Sam Wills), कॉमेडियन या टेप फेस (Tape Face) के रूप में बेहतर जाने जाते हैं, उन्होंने अपने मनमोहित करने वाले समकालीन माइम एक्ट के साथ पूरी दुनिया का दौरा किया है। वे अपने मुंह पर टेप की एक पट्टी के बावजूद अपने दर्शकों को, बिना एक शब्द कहे, ठहाके लगवा सकते हैं। दुनिया के अन्य देशों में भी यह विभिन्न रूपों में प्रचलित है।

संदर्भ
https://bit.ly/3iDf70H
https://bit.ly/36TNU4l
https://www.bbc.com/news/world-asia-india-22949654
https://en.wikipedia.org/wiki/Mime_artist
https://bit.ly/36RoKTR
https://bit.ly/2Uv1t81

चित्र संदर्भ
1. माइम (Mime) कलाकार के रूप में चार्ली चैप्लिन का एक चित्रण (flickr)
2. माइम कलाकारों का एक चित्रण (wikimedia)
3. अमेरिका गॉट टैलेंट (America Got Talent) में सैम विल्स (Sam Wills), कॉमेडियन का एक चित्रण (youtube)



RECENT POST

  • देववाणी संस्कृत को आज भारत में एक से भी कम प्रतिशत आबादी बोल व् समझ सकती है
    ध्वनि 2- भाषायें

     17-05-2022 02:08 AM


  • बाढ़ नियंत्रण में कितने महत्वपूर्ण हैं, बीवर
    व्यवहारिक

     15-05-2022 03:36 PM


  • प्रारंभिक पारिस्थिति चेतावनी प्रणाली में नाजुक तितलियों का महत्व, लखनऊ में खुला बटरफ्लाई पार्क
    तितलियाँ व कीड़े

     14-05-2022 10:09 AM


  • लखनऊ सहित विश्व में सबसे पुराने और शानदार स्विमिंग पूलों या स्नानागारों का इतिहास
    य़ातायात और व्यायाम व व्यायामशाला

     13-05-2022 09:41 AM


  • भारत में बढ़ती गर्मी की लहरें बन रही है विशेष वैश्विक चिंता का कारण
    जलवायु व ऋतु

     11-05-2022 09:10 PM


  • लखनऊ में रहने वाले, भाड़े के फ़्रांसीसी सैनिक क्लाउड मार्टिन का दिलचस्प इतिहास
    उपनिवेश व विश्वयुद्ध 1780 ईस्वी से 1947 ईस्वी तक

     11-05-2022 12:11 PM


  • तेजी से उत्‍परिवर्तित होते वायरस एक गंभीर समस्‍या हो सकते हैं
    कीटाणु,एक कोशीय जीव,क्रोमिस्टा, व शैवाल

     10-05-2022 09:02 AM


  • 1947 से भारत में मेडिकल कॉलेज की सीटों में केवल 14 गुना वृद्धि, अब कोविड लाया बदलाव
    आधुनिक राज्य: 1947 से अब तक

     09-05-2022 08:55 AM


  • वियतनामी लोककथाओं का महत्वपूर्ण हिस्सा है, कछुआ
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     08-05-2022 07:38 AM


  • राष्ट्र कवि रबिन्द्रनाथ टैगोर की कविताएं हैं विश्व भर में भारतीय संस्कृति की पहचान
    द्रिश्य 2- अभिनय कला

     07-05-2022 10:52 AM






  • © - 2017 All content on this website, such as text, graphics, logos, button icons, software, images and its selection, arrangement, presentation & overall design, is the property of Indoeuropeans India Pvt. Ltd. and protected by international copyright laws.

    login_user_id