इंजीनियरिंग का एक अद्भुत कारनामा है, कोलोसियम

लखनऊ

 25-07-2021 02:23 PM
वास्तुकला 1 वाह्य भवन
रोम (Rome) में कोलोसियम (Colosseum) का निर्माण पहली शताब्दी में सम्राट वेस्पासियन (Vespasian) के आदेश से किया गया था। इंजीनियरिंग के इस कारनामे, एम्फीथिएटर (Amphitheater) की लंबाई और चौड़ाई क्रमशः 620 और 513 फीट (189 और 156 मीटर) है, और इसमें मेहराबों या गुंबदों की एक जटिल प्रणाली उपयोग की गयी है। इसकी क्षमता लगभग 50,000 दर्शकों की थी, जिन्होंने यहां हुई विभिन्न घटनाओं या कार्यक्रमों को देखा। इन घटनाओं में शायद सबसे उल्लेखनीय घटना ग्लैडीएटर युद्ध (Gladiator fights) थे, हालांकि कई युद्ध ऐसे भी होते थे, जिसमें जानवरों और पुरुषों के बीच लड़ाईयां होती थी। इसके अलावा, कृत्रिम नौसैनिक गतिविधियों के लिए भी कभी-कभी कोलोसियम में पानी डाला जाता था। कई लोगों का मानना था, कि यहां कई ईसाई शहीद हुए किंतु यह अभी भी बहस का विषय बना हुआ है। कुछ अनुमानों के अनुसार, कोलोसियम में लगभग 500,000 लोग मारे गए थे। इसके अतिरिक्त, कई सारे जानवरों को भी पकड़कर यहां लाया गया और फिर मार दिया गया, जिससे कुछ प्रजातियाँ विलुप्त हो गईं।

संदर्भ:
https://bit.ly/3rv1RiN
https://bit.ly/3zxQXM0


RECENT POST

  • देश में टमाटर जैसे घरेलू सब्जियों के दाम भी क्यों बढ़ रहे हैं?
    साग-सब्जियाँ

     04-07-2022 10:13 AM


  • प्राचीन भारतीय भित्तिचित्र का सबसे बड़ा संग्रह प्रदर्शित करती है अजंता की गुफाएं
    वास्तुकला 1 वाह्य भवन

     03-07-2022 10:59 AM


  • कैसे रहे सदैव खुश, क्या सिखाता है पुरुषार्थ और आधुनिक मनोविज्ञान
    विचार 2 दर्शनशास्त्र, गणित व दवा

     02-07-2022 10:07 AM


  • भगवान जगन्नाथ और विश्व प्रसिद्ध पुरी मंदिर की मूर्तियों की स्मरणीय कथा
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     01-07-2022 10:25 AM


  • संथाली जनजाति के संघर्षपूर्ण लोग और उनकी संस्कृति
    सिद्धान्त 2 व्यक्ति की पहचान

     30-06-2022 08:38 AM


  • कई रोगों का इलाज करने में सक्षम है स्टेम या मूल कोशिका आधारित चिकित्सा विधान
    कोशिका के आधार पर

     29-06-2022 09:20 AM


  • लखनऊ के तालकटोरा कर्बला में आज भी आशूरा का पालन सदियों पुराने तौर तरीकों से किया जाता है
    वास्तुकला 1 वाह्य भवन

     28-06-2022 08:18 AM


  • जापानी व्यंजन सूशी, बन गया है लोकप्रिय फ़ास्ट फ़ूड, इस वजह से विलुप्त न हो जाएँ खाद्य मछीलियाँ
    मछलियाँ व उभयचर

     27-06-2022 09:27 AM


  • 1869 तक मिथक था, विशाल पांडा का अस्तित्व
    शारीरिक

     26-06-2022 10:10 AM


  • उत्तर और मध्य प्रदेश में केन-बेतवा नदी परियोजना में वन्यजीवों की सुरक्षा बन गई बड़ी चुनौती
    निवास स्थान

     25-06-2022 09:53 AM






  • © - 2017 All content on this website, such as text, graphics, logos, button icons, software, images and its selection, arrangement, presentation & overall design, is the property of Indoeuropeans India Pvt. Ltd. and protected by international copyright laws.

    login_user_id