व्यंजनों की तस्वीरें विशिष्ट मनोदशा को व्यक्त करती हैं, खाद्य फोटोग्राफी की बढ़ती लोकप्रियता

लखनऊ

 05-05-2022 07:26 AM
द्रिश्य 1 लेंस/तस्वीर उतारना

यदि आपका नजरिया सकारात्मक हो तो, आपको भारी कॉम्पिटिशन के बाजार में भी, चारों ओर सुनहरे अवसर आसानी से दिखाई देंगे! एक उदाहरण के तौर पर आज खाद्य सेवाओं का बाज़ार, जबकि पहले से ही K. F. C और बर्गर किंग (Burger King) जैसे दिग्गज खाद्य सेवा प्रदाताओं से भरा पड़ा है! लेकिन ऐसे में भी कुछ नए ब्रांड बिना अधिक अनुभव के साथ बाजार में प्रवेश कर रहे हैं, और जनता द्वारा हाथोहाथ अपनाये भी जा रहे हैं। यदि हम नए खाद्य उत्पादों की बाजार में इस त्वरित सफलता पर एक नज़र डालें तो इसमें खाद्य फोटोग्राफी का अहम योगदान नज़र आएगा।
दुनियाभर में लगभग हर दिन नए रेस्तरां और कैफे खुलते हैं, जिसका मतलब है कि खाद्य उद्योग के बीच प्रतिस्पर्धा भी बढ़ रही है। आज नए आगंतुकों को आकर्षित करने के लिए, रेस्तरां की वेबसाइट या मेनू पर व्यंजनों का नाम लिखना ही पर्याप्त नहीं है। लेकिन आपके लज़ीज़ व्यंजनों की एक आकर्षक तस्वीर, भोजन प्रेमियों की लाइन लगा सकती है। दरअसल व्यंजनों की तस्वीरें विशिष्ट मनोदशा को व्यक्त करती हैं, जो सीधे तौर पर मनुष्य की भावनाओं को प्रभावित करते हैं। इसलिए, अधिकांश लोगों के लिए मेनू में फ़ोटो देखना एक आसान विकल्प हो सकता है। शोध बताते हैं की मात्र आकर्षक तस्वीरें देखने से ही लगभग 82% लोग भोजन खरीद सकते हैं, भले ही वे इसे न चाहते हों। इसलिए,सबसे अलग दिखने और अपने उत्पादों की गुणवत्ता में विश्वास बनाने के लिए, व्यवसाय के मालिक एक पेशेवर फ़ूड फ़ोटोग्राफ़र (professional food photographer) को नियुक्त करते हैं। इस प्रकार वे अपनी वेबसाइटों और ब्लॉगों पर अधिक ग्राहक जुड़ाव के साथ-साथ अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर शेयर/टिप्पणियों में भी वृद्धि देखते हैं। शोधकर्ताओं ने पाया कि रंगीन दृश्य (तस्वीर) किसी लेख, विवरण या प्रचार प्रति को पढ़ने के लिए लोगों की इच्छा को 80% तक बढ़ा देते हैं।
कई लोगों को ऐसा लग सकता है कि, पास्ता (Pasta) या मिठाई की एक प्लेट की तस्वीर खींचना इतना मुश्किल काम भी नहीं है, और आप इसे स्वयं कर सकते हैं। लेकिन एक पेशेवर फ़ूड फ़ोटोग्राफ़र उन उत्पादों के साथ काम करने की बारीकियों को जानता है जिनके बारे में ज़्यादातर लोगों को पता नहीं है। ये छोटे-छोटे रहस्य उसे स्वादिष्ट चित्र बनाने में मदद करते हैं जो भोजन की सुंदरता को व्यक्त करते हैं। फ़ोटोग्राफ़र आसानी से सबसे अनुकूल कोण, प्रकाश व्यवस्था, और कुशलता से फ्रेम में तत्वों को संतुलित कर सकता है। जब भोजन की यह कई तस्वीरें कुछ मायनों में रचनात्मक हो जाती हैं, तो इसे फ़ाइन आर्ट फ़ूड फ़ोटोग्राफ़ी (Fine Art Food Photography) लोकप्रिय रूप से भोजन की ललित कला के रूप में स्वीकार किया जाता है। आम फ़ूड फोटोग्राफी की तुलना में फ़ाइन आर्ट फ़ूड फ़ोटोग्राफ़ी उतनी आकर्षक, तेज़ रोशनी वाली, या उदाहरण के लिए विज्ञापन या संपादकीय फ़ूड फ़ोटोग्राफ़ी के प्रभावों से भरपूर नहीं होती है। ऐसा इसलिए है क्योंकि फ़ाइन आर्ट फ़ूड फ़ोटोग्राफ़ी का आकर्षक होना ज़रूरी नहीं होता है। फाइन आर्ट फ़ूड फ़ोटोग्राफ़ी का अंतिम उद्देश्य, प्रभाव से अधिक संलग्न करना है। इसका मतलब यह है कि तस्वीर को दर्शक को सोचने पर मजबूर करना चाहिए। पहले की तुलना में फोटोग्राफी अब परिदृश्य या मनुष्यों या जानवरों तक ही सीमित नहीं है, हाल के दिनों में खाद्य फोटोग्राफी बड़े पैमाने पर लोकप्रिय हुई है। केवल चित्र को देखकर ही तृप्ति प्रदान करने वाले भोजन के सार को पकड़ना अपने आप में एक कला रूप होता है।
खाद्य फोटोग्राफी का उत्सव मनाने तथा इसे बढ़ावा देने के लिए, हर साल दुनिया भर के प्रतिभाशाली फ़ूड फ़ोटोग्राफ़रों को पिंक लेडी फ़ूड फ़ोटोग्राफ़र ऑफ़ द ईयर (Pink Lady Food Photographer of the Year) सम्मान से सम्मानित किया जाता है। इस संदर्भ में भारत के लिए गर्व की बात यह है की, इस साल का लेडी फ़ूड फ़ोटोग्राफ़र ऑफ़ द ईयर का सम्मान पुरस्कार, एक भारतीय फोटोग्राफर देबदत्त चक्रवर्ती को दिया गया था, जिन्होंने श्रीनगर, कश्मीर में एक सड़क पर कबाब विक्रेता की शानदार तस्वीर को कैप्चर किया था। कबाब बनाते समय ओवन से निकलने वाले धुएं में डूबे विक्रेता की यह तस्वीर काफी मनोरम दृश्य है। देबदत्त चक्रवर्ती को वर्ष 2022 के पिंक लेडी फ़ूड फ़ोटोग्राफ़र का समग्र विजेता चुना गया था। विजेता छवि, जिसे उन्होंने 'कबाबियाना' शीर्षक दिया था, रात में श्रीनगर की एक व्यस्त सड़क पर ली गई थी, जब खाद्य विक्रेताओं ने कबाब और अन्य बनाने के लिए लकड़ी का कोयला ओवन निकाल दिया था। इस तस्वीर को पिंक लेडी फ़ूड फ़ोटोग्राफ़र ऑफ़ द ईयर के ट्विटर हैंडल (Twitter handle of Pink Lady Food Photographer of the Year) पर शेयर किया गया था। कई ट्विटर उपयोगकर्ताओं ने छवि को फिर से साझा करते हुए लिखा है की "यह छवि, कोमल लेकिन शक्तिशाली, है और हमारी आत्मा का पोषण करती है", "यह एक अविश्वसनीय विजेता छवि है" , "यह शानदार शॉट पिंक लेडी फ़ूड फ़ोटोग्राफ़र ऑफ़ द ईयर का एक योग्य समग्र विजेता है"।
इस पुरस्कार के लिए दुनिया भर के 60 से अधिक देशों के हजारों फोटोग्राफरों ने अपनी प्रविष्टियां जमा कीं और विजेताओं की घोषणा एक लाइव-स्ट्रीम कार्यक्रम (live-stream events) के माध्यम से की गई।

संदर्भ

https://bit.ly/3OTzaHB
https://bit.ly/3MOkM1w
https://bit.ly/3MUNAFH
https://bit.ly/3LERcey

चित्र संदर्भ

1  खाद्य फोटोग्राफी को दर्शाता एक चित्रण (wikimedia)
2. खाद्य फोटोग्राफी की तैयारी करते फोटोग्राफरों को दर्शाता एक चित्रण (wikimedia)
3. फ़ाइन आर्ट फ़ूड फ़ोटोग्राफ़ी (Fine Art Food Photography) को दर्शाता एक चित्रण (Artsy)
4. खाद्य फोटोग्राफी को दर्शाता एक चित्रण (wikimedia)



RECENT POST

  • यूक्रेन युद्ध, भारत में कई जगह सूखा, बेमौसम बारिश,गर्मी की लहरों से उत्पन्न खाद्य मुद्रास्फीति
    स्वाद- खाद्य का इतिहास

     26-05-2022 08:44 AM


  • हम लखनऊ वासियों को समझनी होगी प्रदूषण, अतिक्रमण से पीड़ित जल निकायों व नदियों की पीड़ा
    नदियाँ

     25-05-2022 08:16 AM


  • लखनऊ के हरित आवरण हेतु, स्थानीय स्वदेशी वृक्ष ही पारिस्थितिकी तंत्र के लिए सबसे उपयुक्त
    पेड़, झाड़ियाँ, बेल व लतायें

     24-05-2022 07:37 AM


  • स्वास्थ्य सेवा व् प्रौद्योगिकी में माइक्रोचिप्स की बढ़ती वैश्विक मांग, क्या भारत बनेगा निर्माण केंद्र?
    खनिज

     23-05-2022 08:50 AM


  • सेलफिश की गति मछलियों में दर्ज की गई उच्चतम गति है
    व्यवहारिक

     22-05-2022 03:40 PM


  • बच्चों को खेल खेल में, दैनिक जीवन में गणित के महत्व को समझाने की जरूरत
    विचार 2 दर्शनशास्त्र, गणित व दवा

     21-05-2022 11:09 AM


  • भारत में जैविक कृषि आंदोलन व सिद्धांत का विकास, ब्रिटिश कृषि वैज्ञानिक अल्बर्ट हॉवर्ड द्वारा
    भूमि प्रकार (खेतिहर व बंजर)

     20-05-2022 10:03 AM


  • लखनऊ की वृद्धि के साथ हम निवासियों को नहीं भूलना है सकारात्मक पर्यावरणीय व्यवहार
    नगरीकरण- शहर व शक्ति

     19-05-2022 09:47 AM


  • एक समय जब रेल सफर का मतलब था मिट्टी की सुगंध से भरी कुल्हड़ की स्वादिष्ट चाय
    म्रिदभाण्ड से काँच व आभूषण

     18-05-2022 08:47 AM


  • उत्तर प्रदेश में बौद्ध तीर्थ स्थल और उनका महत्व
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     17-05-2022 09:52 AM






  • © - 2017 All content on this website, such as text, graphics, logos, button icons, software, images and its selection, arrangement, presentation & overall design, is the property of Indoeuropeans India Pvt. Ltd. and protected by international copyright laws.

    login_user_id