बच्चों को खेल खेल में, दैनिक जीवन में गणित के महत्व को समझाने की जरूरत

लखनऊ

 21-05-2022 11:09 AM
विचार 2 दर्शनशास्त्र, गणित व दवा

आज हमारी सामाजिक संरचना और शिक्षा व्यवस्था ने, गणित जैसे रोचक विषय को भी, इतना चुनौतीपूर्ण बना दिया है की, गणित का नाम सुनते ही, कई बच्चों और यहां तक की वयस्कों की भी, भौहें तन जाती हैं! लेकिन गणित के संबंध में किसी बच्चे को, उसके बचपन से ही उचित मार्गदर्शन दिया जाए तो, यह न केवल उसके लिए बेहद रोमांचक विषय है, साथ ही हमारे दैनिक जीवन के कई चुनौतीपूर्ण कामों को चुटकी बजाने जितना आसान बना सकती है! क्या आप जानना चाहेंगे कैसे?
बच्चे बहुत जिज्ञासु होते हैं, इसलिए उन्हें कम उम्र में ही अपने दैनिक जीवन में गणित के महत्व को समझाने की जरूरत होती है, ताकि वे इससे डरने के बजाय जीवन भर इसके प्रयोगों का आनंद ले सके। यह ध्यान देने योग्य है कि, व्यक्ति अपने दैनिक जीवन में बिस्तर से उठने से लेकर, रात में सोने तक, विभिन्नगणितीय अनुप्रयोगों का कैसे अनुभव करता है। चाहे वह रसोइया हो या किसान, बढ़ई, मैकेनिक, दुकानदार या डॉक्टर, इंजीनियर या वैज्ञानिक, संगीतकार हो या जादूगर, कलाकार या दर्जी, सभी को दैनिक जीवन में गणित की आवश्यकता होती है। गणित हमें कई ऐसे काम करने में मदद कर सकती है, जो हमारे दैनिक जीवन में महत्वपूर्ण होते हैं। यहाँ कुछ दैनिक कार्य हैं, जिनके लिए गणित महत्वपूर्ण है:
1. समय का प्रबंधन: आप जो करना पसंद करते हैं, उसे करने के लिए समय का ध्यान रखना बहुत महत्वपूर्ण है! गणित को मनोरंजन के साथ समझाने के लिए, बच्चों को उनकी दैनिक गतिविधियों के लिए एक दैनिक समय सारिणी बनाने के लिए प्रोत्साहित करें, उनके शौक, शिक्षाविदों, अवकाश, खेल आदि के लिए समय आवंटित करें।
2. बजट बनाना: पैसे का प्रबंधन करना, छूट को समझना और सर्वोत्तम मूल्य पर सामान की खरीदारी करना! अपने बच्चों के लिए पॉकेट मनी (Pocket Money) तय करें और उन्हें इसे उचित तरीके से प्रबंधित करने के लिए मार्गदर्शन करें।
3. खेल: स्कोर, समय, जीतने के लिए रणनीति बनाना! गणित का बुनियादी ज्ञान किसी भी खेल गतिविधि के स्कोर पर नज़र रखने में मदद करता है। ज्यामिति और त्रिकोणमिति उन बच्चों की मदद कर सकते हैं जो खेल में अपने कौशल में सुधार करना चाहते हैं। यह उन्हें गेंद को हिट करने, टोकरी बनाने या ट्रैक के चारों ओर दौड़ने का सबसे अच्छा तरीका खोजने में मदद कर सकता है।
4. पाक कला: लज़ीज़ व्यंजन बनाने के लिए उचित सामग्री को मापना, रसोई सूची योजना बनाना!
5. व्यायाम और परहेज़! गणित के आधार पर हम अपने वर्कआउट शेड्यूल (workout schedule) के अनुसार अपनी दिनचर्या निर्धारित करते हैं, व्यायाम करते समय दोहराव की संख्या भी गिनते हैं। बच्चों को स्किपिंग, पुश-अप्स, रनिंग जैसे किसी भी प्रकार के व्यायाम का अभ्यास करने दें और उन्हें अपने दोहराव की गिनती करने के लिए कहें।
6. ड्राइविंग: तय की गई दूरी, गंतव्य तक पहुंचने के लिए सबसे छोटे रास्ते की पहचान करना!
हमारे जीवन को सुगम बनाने के लिए, गणित हमारे हाथ में एक उपकरण की तरह है। हम अपने दृष्टिकोण में जितने अधिक गणितीय होंगे, हमारे विचार उतने ही तर्कसंगत होंगे। यह विषय के महत्व को समझने और इसकी सुंदरता का आनंद लेने का समय है। गणित एक ऐसा माध्यम है जिसे जीवन के हर क्षेत्र में सभी को अपनाना चाहिए। आपको शायद हैरानी होगी की किसी “शब्द” का शाब्दिक अर्थ, “ दुनिया का मापन” हो सकता है, जैसे भू और महानगर , पृथ्वी और लोगों आदि की माप। और जब आप अपने परिवार के बारे में सोचते हैं, जब आप किसी करीबी रिश्तेदार बनाम दूर के रिश्तेदार के बारे में सोचते हैं, तो इस प्रकार गणित आपके परिवार के बारे में सोचने का एक ज्यामितीय तरीका है।
मनोविज्ञान के प्रोफेसर ईवा पोमेरेंत्ज़ (Eva Pomerantz) और स्नातक छात्र जियावेन वू (jiawen wu) द्वारा सह-लिखित एक अध्ययन के अनुसार, अपने बच्चों के साथ गणित की गतिविधियों और गृहकार्य पर काम करते समय माता-पिता की प्रतिक्रियाएं, विषय के प्रति बच्चों की पसंद और उसमें उनकी उपलब्धि को आकार देती हैं।
बाल विकास पत्रिका में एक नए अध्ययन से पता चलता है कि, बच्चों के शुरुआती अनुभव गणित के होमवर्क और उनके माता-पिता के साथ गतिविधियां, उनकी प्रेरणा और उपलब्धि को आकार देती हैं। युवा लोगों में गणित के प्रति प्रेम पैदा करना और अगली पीढ़ी के वैज्ञानिकों, लेखाकारों और अन्य संख्या-उन्मुख पेशेवरों को प्रेरित करना, कम-दांव वाली गणित गतिविधियों से शुरू हो सकता है। जब गणित का होमवर्क अपने माता-पिता के साथ नकारात्मकता जैसे माता-पिता में निराशा या अयोग्यता की भावनाएँ, से भरा होता है तो, बच्चों के गणित का आनंद लेने और गणित की चुनौतीपूर्ण समस्याओं से निपटने की संभावना कम होती है।
नेशनल साइंस फाउंडेशन (National Science Foundation) से अनुदान द्वारा वित्त पोषित, अध्ययन के दौरान 12 दिनों के लिए, पहली या दूसरी कक्षा के छात्रों के 480 से अधिक माता-पिता ने अपने बच्चों की गणित की गतिविधियों और गृहकार्य में शामिल होने को कहा गया। प्रत्येक दिन जब उन्होंने माता-पिता के ऑनलाइन सर्वेक्षणों का उपयोग करके मूल्यांकन किया कि, इन होमवर्क और गतिविधि सत्रों के दौरान वे कितने खुश और संतुष्ट या चिड़चिड़े और चिंतित थे। अधिकांश माता-पिता, 80%, बच्चों की माताएँ थीं। लगभग 29% माता-पिता के पास कॉलेज की डिग्री से कम थी, जबकि 38% माता-पिता के पास उन्नत डिग्री थी। माता-पिता की रिपोर्ट के अनुसार, उनके बच्चे 12 में से लगभग तीन दिनों में गणित के होमवर्क या सीखने की गतिविधियों में लगे रहते हैं, जिसमें माता- पिता प्रत्येक के साथ लगभग 80% समय उनकी मदद करते हैं।
शोधकर्ताओं ने पाया कि पहली कक्षा के छात्रों ने अधिक सीखने की गतिविधियाँ कीं, जबकि दूसरी कक्षा के छात्रों के पास अधिक होमवर्क असाइनमेंट थे। शोधकर्ताओं ने पाया कि गणित के साथ अपने बच्चों की मदद करते समय माता-पिता जितना अधिक प्रभावशाली महसूस करते हैं, उतना ही अधिक गणित का होमवर्क और सीखने की गतिविधियाँ उनके बच्चे भी करते हैं। बच्चों की स्वायत्तता का समर्थन करने और उन्हें अपने तरीके से गणित की समस्याओं को हल करने के लिए, प्रोत्साहित करने जैसे रचनात्मक अभिभावक व्यवहार, माता-पिता की प्रभावकारिता के उच्च स्तर से भी जुड़े थे। जब माता-पिता का होमवर्क के संदर्भ में बहुत अधिक नकारात्मक प्रभाव पड़ता है, तो यह वास्तव में बच्चों के लिए अच्छा नहीं होता है।

संदर्भ
https://bit.ly/3sKxdnq
https://bit.ly/3sKx97a
https://bit.ly/39BiLYe

.चित्र संदर्भ
1  बिड़ला औद्योगिक और तकनीकी संग्रहालय - गणित गैलरी - कोलकाता को दर्शाता एक चित्रण (wikimedia)
2. खेल-खेल में गणित के पाठ सीखते छात्रों को दर्शाता एक चित्रण (Wikimedia)
3. पैसे के प्रबंधन को दर्शाता एक चित्रण (pxhere)
4. अपनी मां के साथ पढाई करती छात्रा को दर्शाता एक चित्रण (wikimedia)



RECENT POST

  • देश में टमाटर जैसे घरेलू सब्जियों के दाम भी क्यों बढ़ रहे हैं?
    साग-सब्जियाँ

     04-07-2022 10:13 AM


  • प्राचीन भारतीय भित्तिचित्र का सबसे बड़ा संग्रह प्रदर्शित करती है अजंता की गुफाएं
    वास्तुकला 1 वाह्य भवन

     03-07-2022 10:59 AM


  • कैसे रहे सदैव खुश, क्या सिखाता है पुरुषार्थ और आधुनिक मनोविज्ञान
    विचार 2 दर्शनशास्त्र, गणित व दवा

     02-07-2022 10:07 AM


  • भगवान जगन्नाथ और विश्व प्रसिद्ध पुरी मंदिर की मूर्तियों की स्मरणीय कथा
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     01-07-2022 10:25 AM


  • संथाली जनजाति के संघर्षपूर्ण लोग और उनकी संस्कृति
    सिद्धान्त 2 व्यक्ति की पहचान

     30-06-2022 08:38 AM


  • कई रोगों का इलाज करने में सक्षम है स्टेम या मूल कोशिका आधारित चिकित्सा विधान
    कोशिका के आधार पर

     29-06-2022 09:20 AM


  • लखनऊ के तालकटोरा कर्बला में आज भी आशूरा का पालन सदियों पुराने तौर तरीकों से किया जाता है
    वास्तुकला 1 वाह्य भवन

     28-06-2022 08:18 AM


  • जापानी व्यंजन सूशी, बन गया है लोकप्रिय फ़ास्ट फ़ूड, इस वजह से विलुप्त न हो जाएँ खाद्य मछीलियाँ
    मछलियाँ व उभयचर

     27-06-2022 09:27 AM


  • 1869 तक मिथक था, विशाल पांडा का अस्तित्व
    शारीरिक

     26-06-2022 10:10 AM


  • उत्तर और मध्य प्रदेश में केन-बेतवा नदी परियोजना में वन्यजीवों की सुरक्षा बन गई बड़ी चुनौती
    निवास स्थान

     25-06-2022 09:53 AM






  • © - 2017 All content on this website, such as text, graphics, logos, button icons, software, images and its selection, arrangement, presentation & overall design, is the property of Indoeuropeans India Pvt. Ltd. and protected by international copyright laws.

    login_user_id